• 14 साल की लड़की को बंधक बना 1000 लोगों से बनवाया शारीरिक संबंध
  • प्रशांत भूषण को पीटने वाले को बीजेपी ने बनाया प्रवक्ता
  • राजस्थान: लैंडिंग से पहले बाड़मेर में क्रैश हुआ सुखोई, दोनों पायलट सुरक्षित
  • 'लालू परिवार' हुआ रघुवंश से नाराज, राबड़ी ने बयान को बोला फूहड़
  • गिलगित-बाल्टिस्तान क्षेत्र को पांचवां प्रांत घोषित करने की तैयारी में पाकिस्तान
  • सिद्धू को मिल सकता है कांग्रेस से झटका, अमरिंदर नहीं चाहते कोई डिप्टी CM
  • लोकसभा में भाजपा सांसदों ने किया पीएम मोदी का स्वागत, लगे 'जयश्री राम' के नारे
  • पंजाब और गोवा विधानसभा चुनावों में मिली हार के बाद आम आदमी पार्टी में फूट के आसार!

होम |

खेल

क्रिकेट प्रशासक बनने में रूचि नहीं: गावस्कर

By Raj Express | Publish Date: 3/18/2017 5:12:47 PM
क्रिकेट प्रशासक बनने में रूचि नहीं: गावस्कर
रांची। भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान और अपने विचारों को लेकर हमेशा मुख रहे सुनील गावस्कर ने कहा है कि उन्हें न तो राजनीति में कोई दिलचस्पी है और न ही वह क्रिकेट प्रशासक बनने में रूचि रखते हैं। भारत और आस्ट्रेलिया के बीच हो अपने नाम पर आधारित सीरीज गावस्कर-बार्डर ट्राफी में कमेंट्री कर रहे पूर्व क्रिकेटर ने यहां कहा कि उन्हें राजनीति में जाने या क्रिकेट प्रशासक बनने में उनकी कभी रूचि नहीं रही है। गावस्कर ने कहा कि नवजोत सिंह सिद्धू के पिता पंजाब के महाधिवक्ता थे और सामाजिक सरोकारों से जुड़े रहे और आज नवजोत सिंह सिद्धू पंजाब में मंत्री बने हैं जिसके लिए मैं उन्हें मेरी शुभकामनाएं देता हूं। हालांकि मुझे व्यक्तिगत रूप से राजनीति में रूचि नहीं रही है और न ही मैं क्रिकेट प्रशासक की भूमिका को लेकर उत्साहित हूं। पूर्व कप्तान ने यहां कहा कि भारत और आस्ट्रेलिया सीरीज के अंतिम टेस्ट में धर्मशाला में विजेता टीम को बार्डर-गावस्कर ट्राफी देने के लिए आस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान एलेन बार्डर को आमंत्रित किया जाना चाहिए। उन्होंने दुनिया भर में होने वाले खेल के विभिन्न टूर्नामेंटों में पुराने खिलाड़ियों को आमंत्रित किया जाता रहा है और भारत में भी इस तरह की परंपरा कायम होनी चाहिए। तमिलनाडु क्रिकेट संघ पुराने क्रिकेट खिलाड़ियों को मैच के लिए आमंत्रित करता है लेकिन अन्य राज्यों के क्रिकेट संघों को भी पुराने खिलाड़ियों को सम्मान के साथ मैच देखने के लिए बुलाना चाहिए। फिटनेस के लिए व्यायाम जरूरी है: -67 वर्षीय गावस्कर ने अपने फिटनेस मंत्र को लेकर कहा कि इस उम्र में भी वह खुद को फिट रखने के लिए सप्ताह में हर दिन व्यायाम करते है और खान पान पर काफी नियंत्रण रखते है। उन्होंने कहा मुझे शाकाहारी खाना काफी पंसद है और इसके अलावा मैं काफी व्यायाम करता हूं। उन्होंने साथ ही क्रिकेट में अपने कुछ व्यक्तिगत अनुभवों को भी साझा किया और माना कि क्रिकेट में भाग्य की भूमिका काफी महत्वपूर्ण होती है। गावस्कर ने कहा कि 1975 के पहले विश्वकप क्रिकेट में मैंने इंग्लैंड के खिलाफ नाबाद 36 रन बनाए थे और आज भी मैं इसका उत्तर नहीं खोज पाया हूं कि कैसे 60 ओवर के वनडे मैच में मैंने इतने कम रन बनाये थे। इंग्लैंड ने विश्व कप क्रिकेट के इस मैच में भारत को 202 रन से पराजित किया था। गावस्कर ने साथ ही कहा कि महेंद्र सिंह धोनी के शहर रांची में पहली बार टेस्ट क्रिकेट हो रहा है और उन्हें उम्मीद है कि अंतिम दिन तक धोनी भी इस टेस्ट मैच को देखने आएंगे।
 
Contact us: contact@rajexpress.com
Copyright © 2016 RajExpress.com. All Rights Reserved.
Designed by : 4C Plus