• 14 साल की लड़की को बंधक बना 1000 लोगों से बनवाया शारीरिक संबंध
  • प्रशांत भूषण को पीटने वाले को बीजेपी ने बनाया प्रवक्ता
  • राजस्थान: लैंडिंग से पहले बाड़मेर में क्रैश हुआ सुखोई, दोनों पायलट सुरक्षित
  • 'लालू परिवार' हुआ रघुवंश से नाराज, राबड़ी ने बयान को बोला फूहड़
  • गिलगित-बाल्टिस्तान क्षेत्र को पांचवां प्रांत घोषित करने की तैयारी में पाकिस्तान
  • सिद्धू को मिल सकता है कांग्रेस से झटका, अमरिंदर नहीं चाहते कोई डिप्टी CM
  • लोकसभा में भाजपा सांसदों ने किया पीएम मोदी का स्वागत, लगे 'जयश्री राम' के नारे
  • पंजाब और गोवा विधानसभा चुनावों में मिली हार के बाद आम आदमी पार्टी में फूट के आसार!

होम |

दुनिया

ऑस्कर अवॉर्ड 2017: इतिहास में पहली बार हुई बड़ी गलती, बेस्ट फिल्म के लिए पुकारा गया गलत नाम

By Raj Express | Publish Date: 2/28/2017 12:14:45 AM
ऑस्कर अवॉर्ड 2017: इतिहास में पहली बार हुई बड़ी गलती, बेस्ट फिल्म के लिए पुकारा गया गलत नाम

 लॉस एंजेलिस। अमेरिका के लॉस एंजेलिस में आयोजित 89वें अकादमी पुरस्कारों में ‘ला ला लैंड’ को गलती से सर्वश्रेष्ठ फिल्म घोषित कर दिया गया, लेकिन बाद में प्रस्तोता ने अपनी भूल सुधारते हुए ‘मूनलाइट’ को सर्वश्रेष्ठ फिल्म बताया। वॉरेन बीटी और फाये डुनावे को विजेता का नाम घोषित करने मंच पर बुलाया गया था। उन्होंने गलती से ‘ला ला लैंड’ को सर्वश्रेष्ठ फिल्म घोषित कर दिया। घोषणा के बाद ‘ला ला लैंड’ की पूरी टीम मंच पर पहुंची और दर्शकों को संबोधित करने लगी कि तभी एक प्रतिनिधि ने कहा कि गलती हुई है, मूनलाइट ने सर्वश्रेष्ठ फिल्म का पुरस्कार जीता है, यह मजाक नहीं है। इन्होंने गलत नाम पढ़ दिया है. ‘मूनलाइट’ को सर्वश्रेष्ठ फिल्म का पुरस्कार मिला है।

देव पटेल को मिली निराशा 

इस बार भारतीय मूल के एक्टर देव पटेल को निराशा हाथ लगी। पटेल को बेस्ट सपोर्टिग एक्टर (मेल) कैटेगरी में नॉमिनेशन मिला था। मगर बाजी मुस्लिम एक्टर माहेर्शला अली ने मारी। ऑस्कर में एक बार फिर प्रियंका चोपड़ा आकर्षण का केंद्र रही। 

मिस यूनिवर्स में भी हुई थी चूक 

ऑस्कर के मेजबान जिमी किमेल ने इस चूक पर जिम्मेदारी लेते हुए कहा, मैं इसके लिए खुद को जिम्मेदार मानता हूं। ऑस्कर में हुई इस घटना ने पिछले साल मिस यूनिवर्स प्रतियोगिता के फिनाले की याद दिला दी जब शो के मेजबान स्टीव हार्वे ने गलती से गलत विजेता के नाम का ऐलान कर दिया था।

अश्वेत युवक के संघर्ष की कहानी है मूनलाइट

‘मूनलाइट’ ऑस्कर जीतने वाली कथित तौर पर अब तक की सबसे कम बजट में बनी फिल्म है। ‘मूनलाइट’ क्यूबा के एक अश्वेत युवक की कहानी है जो मियामी में कड़े संघर्षो से जूझता है। इस फिल्म की जीत को राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के लिए एक कड़े संदेश के तौर पर देखा जा रहा है, जिन्होंने देश में आव्रजकों के खिलाफ अभियान छेड़ रखा है।

 
Contact us: contact@rajexpress.com
Copyright © 2016 RajExpress.com. All Rights Reserved.
Designed by : 4C Plus