• 14 साल की लड़की को बंधक बना 1000 लोगों से बनवाया शारीरिक संबंध
  • प्रशांत भूषण को पीटने वाले को बीजेपी ने बनाया प्रवक्ता
  • राजस्थान: लैंडिंग से पहले बाड़मेर में क्रैश हुआ सुखोई, दोनों पायलट सुरक्षित
  • 'लालू परिवार' हुआ रघुवंश से नाराज, राबड़ी ने बयान को बोला फूहड़
  • गिलगित-बाल्टिस्तान क्षेत्र को पांचवां प्रांत घोषित करने की तैयारी में पाकिस्तान
  • सिद्धू को मिल सकता है कांग्रेस से झटका, अमरिंदर नहीं चाहते कोई डिप्टी CM
  • लोकसभा में भाजपा सांसदों ने किया पीएम मोदी का स्वागत, लगे 'जयश्री राम' के नारे
  • पंजाब और गोवा विधानसभा चुनावों में मिली हार के बाद आम आदमी पार्टी में फूट के आसार!

होम |

दुनिया

उ.कोरिया का बर्ताव बुरा

By Raj Express | Publish Date: 3/21/2017 11:00:51 AM
उ.कोरिया का बर्ताव बुरा

वाशिंगटन। अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने उत्तर कोरिया की मिसाइल संबंधी गतिविधियों के बाद कहा है कि कोरियाई प्रायद्वीप का यह देश बेहद खराब ढंग से बर्ताव कर रहा है। विदित हो कि उत्तर कोरिया ने शनिवार को नव विकसित उच्च क्षमता वाले इंजन का परीक्षण करने का दावा किया था, जो पिछले कुछ माह में उसके द्वारा किए गए मिसाइल परीक्षणों की एक ताजा कड़ी है। ‘द हिल’ पत्रिका के अनुसार, व्हाइट हाउस ने एक बयान में कहा कि राष्ट्रपति ने उत्तर कोरिया के शीर्ष नेता किम जोंग-उन के बारे में कहा कि वह बेहद खराब ढंग से बर्ताव कर रहे हैं। ट्रंप इस समय फ्लोरिडा राज्य के अपने मार-ए-लागो रिजॉर्ट में हैं। राष्ट्रपति ने कहा कि उन्होंने सप्ताहांत में हुई बैठकों में उत्तर कोरिया के मिसाइल परीक्षणों को लेकर चर्चा की थी। अमेरिका के विदेश मंत्री रेक्स टिलरसन ने भी उत्तर कोरिया द्वारा मिसाइल परीक्षणों की निंदा की थी। यह दर्शाता है कि यदि उत्तर कोरिया का यही रुख जारी रहता है, तो ट्रंप उसके खिलाफ कोई एहतियाती कदम उठा सकता है। अमेरिका में पूर्व पुलिस अफसर को ‘नाम’ की वजह से रोका गया एक पूर्व पुलिस अधिकारी ने कहा है कि इस महीने की शुरुआत में न्यूयॉर्क के जॉन एफ. केनेडी अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर उसे उसके ‘नाम’ की वजह से 90 मिनट तक के लिए रोके रखा गया। मीडिया रिपोर्ट में यह जानकारी दी गई है। वर्जिनिया के अलेक्जेंड्रिया में रहने वाले हसन अदेन (52) ने शहर के पुलिस विभाग में 26 साल काम किया था। वहां उन्होंने बतौर पुलिस उप प्रमुख के रूप में भी काम किया था। साल 2015 में वह सेवानिवृत्त हुए। अदेन ने रविवार को समाचार पत्र वाशिंगटन पोस्ट को बताया कि 13 मार्च को वह पेरिस से अपनी मां का 80वां जन्मदिन मनाकर लौट रहे थे । जैसे ही वह कस्टम में पहुंचे उन्होंने अपना पासपोर्ट लौटाए जाने की उम्मीद की, लेकिन अमेरिकी कस्टम एवं सीमा सुरक्षा (सीबीपी) अधिकारी ने उनसे पूछा द्घस्रक्या आप अकेले यात्र कर रहे हैं? अदेन ने जवाब दिया ‘हां’ तो उसने उन्हें अपने साथ चलने के लिए कहा। अदेन इटली में जन्मे अमेरिकी नागरिक हैं, वह पिछले 42 सालों से अमेरिका में रह रहे हैं। अदेन ने कहा कि उन्हें एक अस्थायी कार्यालय ले जाया गया और सेलफोन इस्तेमाल करने से भी मना कर दिया गया। उन्होंने अधिकारी को बताया कि वह सेवानिवृत्त पुलिस प्रमुख हैं, लेकिन उसने कहा कि वह कुछ नहीं कर सकता और परिस्थितिवश मजबूर है। एक अन्य अधिकारी ने बताया कि ‘निगरानी सूची’ के अंतर्गत आने वाले किसी शख्स ने अदेन के नाम का इस्तेमाल किया था और उन्हें वहीं शख्स समझ लिया गया। अमेरिकी कस्टम एवं सीमा सुरक्षा के प्रवक्ता ने रविवार को कहा कि संघीय गोपनीयता अधिनियम के कारण वह अदेन के मामले में कोई टिप्पणी नहीं करेंगे, लेकिन अमेरिका पहुंचने वाले सभी यात्रियों को सीबीपी के निरीक्षण से गुजरना होता है। अदेन की मां इतालवी मूल की और पिता सोमालियाई हैं। ट्रंप प्रशासन के कदमों पर बोले अमेरिकी मुसलमान, ‘हमें न तो कोई डर है और न ही कोई उम्मीद’शिकागो। अमेरिका में आयोजित एक कार्यRम में शामिल हुए मुस्लिम समाज के लोगों ने डोनाल्ड प्रशासन में उठाए गए कुछ कदमों के बारे में कहा कि उन्हें न तो किसी तरह का डर है और न ही किसी तरह की आशा है. ‘काउंसिल ऑन अमेरिकन इस्लामिक रिलेशंस’ (सीएआईआर) की शिकागो इकाई के लिए धनसंग्रह कार्यRम में करीब 1,200 लोग शामिल हुए जिनमें अधिकांश मुस्लिम रहे। इस कार्यक्रम में अहमद रिहाब नामक व्यक्ति ने कहा, ‘यह लड़ाई सिर्फ हमारी लड़ाई नहीं है।  उन्होंने कहा, ‘आप उन लोगों को देखिए जो लोग अच्छे लोगों को इस देश में आने से प्रतिबंधित करने का प्रयास कर रहे हैं। ऐसे लोगों को रोका जा रहा है जिनका कोई अपराध नहीं है सिवाय इसके कि वे मुसलमान हैं।’ इस समूह ने घृणा अपराधों में बढ़ोतरी के बारे में जानकारी दी। 

 
Contact us: contact@rajexpress.com
Copyright © 2016 RajExpress.com. All Rights Reserved.
Designed by : 4C Plus