• 14 साल की लड़की को बंधक बना 1000 लोगों से बनवाया शारीरिक संबंध
  • प्रशांत भूषण को पीटने वाले को बीजेपी ने बनाया प्रवक्ता
  • राजस्थान: लैंडिंग से पहले बाड़मेर में क्रैश हुआ सुखोई, दोनों पायलट सुरक्षित
  • 'लालू परिवार' हुआ रघुवंश से नाराज, राबड़ी ने बयान को बोला फूहड़
  • गिलगित-बाल्टिस्तान क्षेत्र को पांचवां प्रांत घोषित करने की तैयारी में पाकिस्तान
  • सिद्धू को मिल सकता है कांग्रेस से झटका, अमरिंदर नहीं चाहते कोई डिप्टी CM
  • लोकसभा में भाजपा सांसदों ने किया पीएम मोदी का स्वागत, लगे 'जयश्री राम' के नारे
  • पंजाब और गोवा विधानसभा चुनावों में मिली हार के बाद आम आदमी पार्टी में फूट के आसार!

होम |

बिज़नेस

नई एक्साइज पॉलिसी में देसी और अंग्रेजी शराब का ठेका एक

By Raj Express | Publish Date: 3/20/2017 12:24:16 PM
नई एक्साइज पॉलिसी में देसी और अंग्रेजी शराब का ठेका एक

जींद। जिले में आगामी वित्तीय वर्ष 2017-18 के लिए शराब ठेकों के टेंडर लेने के लिए सुबह नौ बजे से ऑनलाइन फार्म भरने शुरू हो गए, जो मंगलवार सायं चार बजे तक भरे जा सकेंगे। दो घंटे बाद मंगलवार सायं छह बजे ही उपायुक्त की अध्यक्षता में टेंडर खुलेंगे। जिला आबकारी विभाग ने नई एक्साइज पॉलिसी के तहत जिले को 13 जोन में बांटा है और शराब ठेकों के लिए रिजर्व प्राइस 92 करोड़ रुपये रखा है। बीते वर्ष रिजर्व प्राइस 22 करोड़ था, लेकिन टेंडर 2745.54 लाख रुपये में छूटा था। इसी तरह देसी शराब का कोटा 57 लाख प्रूफ लीटर है। बीते वर्ष 70 करोड़ रुपये रिजर्व प्राइस रखा गया था। नई एक्साइज पॉलिसी के तहत देसी और अंग्रेजी शराब का ठेका एक ही छत के नीचे खुल सकेगा, इसलिए इस बार रिजर्व प्राइस 92 करोड़ रुपये ही रखा है। जिला आबकारी विभाग के अनुसार ऐसे ठेकों को चिन्हित कर लिया है, जो नेशनल और स्टेट हाईवे के 500 मीटर के दायरे में हैं। एक अप्रैल से ये सभी ठेके बंद हो जाएंगे। हालांकि हाइवे पर खुले रेस्टोरेंट व बार में शराब पहले की तरह मिलती रहेगी। इनके लाइसेंस रिन्यू किए जा रहे हैं। जिस गांव में कन्या गुरुकुल होगा, वहां शराब नहीं बेची जा सकेगी। मान्यता प्राप्त स्कूल, कॉलेज, मुख्य बस स्टैंड और मंदिर या पूजा स्थल के मुख्य गेट की 150 मीटर दूरी तक शराब ठेका नहीं खुलेगा। उप आबकारी व कराधान आयुक्त एक्साइज की सिफारिश पर 150 मीटर की दूरी घटाकर 75 मीटर तक कर सकता है। सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद एक अप्रैल से शराब ठेके नेशनल और स्टेट हाईवे 500 मीटर दूर खुलने हैं। जिले की 60 ग्राम पंचायतों ने गांवों नए वित्तीय वर्ष से ठेके न खोलने की गुहार लगाई थी। इनमें से सिर्फ 15 ग्राम पंचायतों के प्रस्ताव स्वीकार हुए हैं। बस स्टैंड के पास फौजियों के लिए बनी सीएसडी कैंटीन में भी 1 अप्रैल से शराब नहीं बेची जा सकेगी। रजिस्ट्रेशन कराने के लिए ऑनलाइन फार्म भर सकेंगे। 21 मार्च शाम चार बजे तक फार्म भरे जाएंगे। डीआरडीए हाल में 21 मार्च शाम छह बजे टेंडर खोले जाएंगे।

 
Contact us: contact@rajexpress.com
Copyright © 2016 RajExpress.com. All Rights Reserved.
Designed by : 4C Plus