• 14 साल की लड़की को बंधक बना 1000 लोगों से बनवाया शारीरिक संबंध
  • प्रशांत भूषण को पीटने वाले को बीजेपी ने बनाया प्रवक्ता
  • राजस्थान: लैंडिंग से पहले बाड़मेर में क्रैश हुआ सुखोई, दोनों पायलट सुरक्षित
  • 'लालू परिवार' हुआ रघुवंश से नाराज, राबड़ी ने बयान को बोला फूहड़
  • गिलगित-बाल्टिस्तान क्षेत्र को पांचवां प्रांत घोषित करने की तैयारी में पाकिस्तान
  • सिद्धू को मिल सकता है कांग्रेस से झटका, अमरिंदर नहीं चाहते कोई डिप्टी CM
  • लोकसभा में भाजपा सांसदों ने किया पीएम मोदी का स्वागत, लगे 'जयश्री राम' के नारे
  • पंजाब और गोवा विधानसभा चुनावों में मिली हार के बाद आम आदमी पार्टी में फूट के आसार!

होम |

राज्य

सात दिन में वाहन रजिस्टर्ड नहीं तो कराना होगा वेरिफिकेशन...

By Raj Express | Publish Date: 2/27/2017 8:30:23 AM
सात दिन में वाहन रजिस्टर्ड नहीं तो कराना होगा वेरिफिकेशन...

भोपाल। अब शोरूम से बेची जाने वाली नई गाड़ी का रजिस्ट्रेशन एक सप्ताह में न होने पर उसका आरटीओ में वेरिफिकेशन करवाना होगा। इसके बाद ही संबंधित वाहन का रजिस्ट्रेशन आरटीओ में किया जाएगा। यह व्यवस्था जिला परिवहन कार्यालय में मार्च के पहले सप्ताह से शुरू कर दी जाएगी। इसके बाद शोरूम से गाड़ियों के रजिस्ट्रेशन तत्काल में करवाए जा सकेंगे। गौरतलब है कि लगातार शोरूम से दस्तावेज भेजने में देरी की शिकायतें परिवहन विभाग को मिल रही थी। जिसकी वजह से वाहन मालिकों का समय पर आरसी नहीं मिल पा रहा था। परिवहन विभाग ने वाहन स्वामियों की परेशानियों को ध्यान में रखते हुए यह निर्णय लिया है। बता दें कि वर्तमान में वाहन डीलरों के यहां डीलर्स प्वाइंट एनरोलमेंट सिस्टम लागू है। इस सिस्टम को एक साल पहले लागू किया गया था पर कमर्शियल गाड़ियों के लिए भी इसे एक मार्च से शुरू किया जा रहा है। इससे वाहन बेचते ही संबंधित वाहन डीलर को उसका ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन का आवेदन आरटीओ को भेजना होगा। सात दिन में उसकी फ ाइल भी जमा करवाना पड़ेगी। ट्रांसपोर्ट कमिश्नर डॉ.शैलेंद्र श्रीवास्तव ने बताया कि समय से वाहनों के रजिस्ट्रेशन हो सकें उसके लिए नई व्यवस्था शुरू की जा रही है।

यहां भी मिलेगा फायदा

इस व्यवस्था के लागू होने से शोरूम से गाड़ी बेचने के बाद यदि वाहन बिना रजिस्ट्रेशन के चोरी हो जाता है और इंश्योरेंस कंपनी वाहन मालिक को क्लेम देने से इंकार कर देती है या फिर डीलर ऑनलाइन व्यवस्था के तहत संबंधित गाड़ी का रजिस्ट्रेशन करवा कर बीमा कंपनी को गुमराह करने का प्रयास करता है तो इस व्यवस्था के लागू होने से ऐसा नहीं हो सकेगा।  

पंजीयन में हो रही है देरी

प्राइवेट वाहनों के लिए डीलर्स प्वाइंट एनरोलमेंट सिस्टम लागू होने के बाद भी डीलर उनके दस्तावेज समय से आरटीओ नहीं पहुंचा रहे हैं। इस कारण उनके रजिस्ट्रेशन में खासी देरी होती है। जिला परिवहन कार्यालय में करीब एक हजार वाहनों के दस्तावेज डीलर्स ने पिछले डेढ़ महीने के दौरान नहीं पहुंचाए हैं। इस तरह की ही अव्यवस्था को दूर करने के लिए नई व्यवस्था शुरू की जा रही है।

पुलिस वेरीफिकेशन के बिना मिनी बस न चलाएं 

भोपाल। पुलिस वेरीफिकेशन कराए बिना चालक व परिचालक मिनीबस आदि नगर वाहन संचालित न करें। यह निर्देश ट्रैफिक पुलिस ने रविवार को राजधानी के मिनीबस चालक-परिचालक व मालिकों को पुलिस कंट्रोल रूम में हुई एक बैठक के दौरान दिए। अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक ट्रैफिक समीर यादव ने शहर के मिनीबस चालक व परिचालक तथा बस मालिकों के साथ हुई मीटिंग के दौरान बस मालिकों को निर्देश दिए कि वे अपने चालक व परिचालकों का पुलिस वेरिफिकेशन कराने के साथ ही उन्हें एक आईडी कार्ड भी उपलब्ध कराएं। इसमें नाम,पता के साथ फोटो,ब्लड ग्रुप आदि की जानकारी हो ताकि कोई आपराधिक प्रवृत्ति का व्यक्ति चालक-परिचालक के रूप में न जुड़ सके। चालक व परिचालक निर्धारित यूनिफार्म पहनेंगे व नेम प्लेट भी लगाएंगे। निर्धारित गति से अधिक गति पर बस नहीं चलाई जाएगी। चालक मोबाइल,बीडी,सिगरेट,शराब आदि का सेवन नहीं करेंगे। चालक-परिचालक के पास बस संचालन का उपयुक्त लायसेंस होना अनिवार्य है। बस के अंदर पुलिस कंट्रोल रूम,यातायात कंट्रोल रूम,अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक क्राइम,महिला हेल्प लाइन,पुलिस अधीक्षक(उत्तर व दक्ष्तिण)के नबंर लिखा हुआ पंपलेट चस्पा करेंगे। बस के अंदर चालक-परिचालक के नाम व मोबाइल नंबर भी अंकित कराए जाएंगे। बस के अंदर प्रवेश द्वार को कवर करते हुए सीसीटीवी कैमरे भी लगाए जाएं।

बीसीएलएल के चालक-परिचालकों को प्रशिक्षण

सार्वजनिक यात्री वाहन सेवा को बेहतर बनाने के इरादे से व सुरक्षा को देखते हुए ट्रैफिक जागरूकता कार्यक्रम के तहत25फरवरी को डिपो चौराहा स्थित भोपाल सिटी लिंक लिमिटेड के बस डिपो परिसर में ट्रैफिक जागरूकता कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इसमें सिटी बसों के चालकों एवं परिचालकों को ट्रैफिक नियम,ट्रैफिक संकेत की जानकारी दी। बस चालकों को उनके कर्तव्यों से संबंधी महत्वपूर्ण जानकारी से अवगत कराया गया।

Contact us: contact@rajexpress.com
Copyright © 2016 RajExpress.com. All Rights Reserved.
Designed by : 4C Plus