• 14 साल की लड़की को बंधक बना 1000 लोगों से बनवाया शारीरिक संबंध
  • प्रशांत भूषण को पीटने वाले को बीजेपी ने बनाया प्रवक्ता
  • राजस्थान: लैंडिंग से पहले बाड़मेर में क्रैश हुआ सुखोई, दोनों पायलट सुरक्षित
  • 'लालू परिवार' हुआ रघुवंश से नाराज, राबड़ी ने बयान को बोला फूहड़
  • गिलगित-बाल्टिस्तान क्षेत्र को पांचवां प्रांत घोषित करने की तैयारी में पाकिस्तान
  • सिद्धू को मिल सकता है कांग्रेस से झटका, अमरिंदर नहीं चाहते कोई डिप्टी CM
  • लोकसभा में भाजपा सांसदों ने किया पीएम मोदी का स्वागत, लगे 'जयश्री राम' के नारे
  • पंजाब और गोवा विधानसभा चुनावों में मिली हार के बाद आम आदमी पार्टी में फूट के आसार!

होम |

ग्वालियर

नए एमडी के आने से पहले ही जमने लगीं गोटियां...

By Raj Express | Publish Date: 2/27/2017 3:42:45 PM
नए एमडी के आने से पहले ही जमने लगीं गोटियां...

ग्वालियर। एम सेलवेन्द्रन ने बिजली के एमडी के रूप में अभी चार्ज नहीं लिया है, लेकिन उससे पहले ही कंपनी में अपनी मनमानी जगह पोस्टिंग पाने के लिए अधिकारियों ने होमवर्क करना शुरू कर दिया है। इन अधिकारियों में वह अधिकारी हैं जो मोटी रकम के बलवूते अपने पोस्टिंग मनचाही जगह पर कराना चाहते हैं। बिजली कंपनी में लंबे समय से अपनी बारी का इंतजार कर रहे अधिकारी अब पुन: प्रयास में लग गए हैं। यह वह अधिकारी हैं जो एमडी विवेक पोरवाल के कार्यकाल के दौरान मनचाही जगह पाने में असफल रहे थे। सूत्रों की मानें तो यह अधिकारी एमडी के सलाहकार से संबंध बना रहे हैं जिससे उन्हें मनचाही जगह पर पदस्थापना मिल सके।

महाप्रबंधक शहर वृत्त के लिए दौड़ शुरू
सबसे अधिक दौड़ ग्वालियर के महाप्रबंधक शहर वृत्त के पद के लिए लगाई जा रही है। गौरतलब है कि इस पद पर कंपनी के कई वरिष्ठ अधिकारियों की नजर पहले से लगी है। कई अधिकारी तो बोली भी लगा चुके हैं लेकिन यह बोली सफल हो पाती उससे पहले ही पोरवाल का तबादला हो गया। इस पद को पाने के लिए मंत्रियों तक से सिफारिश लगाई जा चुकी बताई जाती है।
दो पद हो चुके सुरक्षित
बिजली कंपनी के मुख्य महाप्रबंधक ग्वालियर रीजन एवं ओएंडएम ग्वालियर के पदों पर कंपनी के पूर्व एमडी पोरवाल पहले ही पदस्थापना करके मुहर लगा चुके हैं। अब इन पदों पर अन्य अधिकारियों के आने की संभावना लगभग गौण हो चुकी हैं। इसी प्रकार नगर संभाग केन्द्र व पूर्व में भी पोरवाल अपने समय में ही पदस्थापना कर चुके हैं। केवल महाप्रबंधक शहर वृत्त के पद पर पदस्थापना के लिए कवायद चल रही थी कि इसी बीच अचानक तबादला हो गया। चालू प्रभार पाने के लिए सबसे अधिक जुगाड़ सहायक यंत्रियों द्वारा लगाई जा रही बताई जा रही है। यह वह अधिकारी हैं जो लंबे समय उपमहाप्रबंधक बनने का सपना देख रहे थे। लेकिन तत्कालीन एमडी द्वारा अपना काम कराने में सफल नहीं हो सके हैं लिहाजा अब नए एमडी के आने पर उन्होंने इसके लिए पुरजोर कोशिश शुरू कर दी है।
एमडी सलाहकार बने सेतु
सूत्रों की मानें तो बिजली कंपनी में जो भी स्थानान्तरण या चालू प्रभार दिए जाते हैं वह बिजली कंपनी के एमडी के सलाहकार के द्वारा ही दिलवाए जाते हैं इसलिए कंपनी के जो अधिकारी ऐसी चाह रखते हैं वह एमडी के सलाहकार के पास पहुंचते हैं और उनके द्वारा सारी प्रक्रिया को अंजाम दिया जाता है। अब नए एमडी के आने पर पुराने एमडी के सलाहकार की कितनी चलती है यह तो समय ही बताएगा लेकिन ऊंचा पद व मनचाही जगह पोस्टिंग पाने वाले यह अधिकारी एमडी सलाहकार की शरण में इसलिए जा चुके हैं कि वही उनका उद्धार कराएंगे।
 
Contact us: contact@rajexpress.com
Copyright © 2016 RajExpress.com. All Rights Reserved.
Designed by : 4C Plus