• 14 साल की लड़की को बंधक बना 1000 लोगों से बनवाया शारीरिक संबंध
  • प्रशांत भूषण को पीटने वाले को बीजेपी ने बनाया प्रवक्ता
  • राजस्थान: लैंडिंग से पहले बाड़मेर में क्रैश हुआ सुखोई, दोनों पायलट सुरक्षित
  • 'लालू परिवार' हुआ रघुवंश से नाराज, राबड़ी ने बयान को बोला फूहड़
  • गिलगित-बाल्टिस्तान क्षेत्र को पांचवां प्रांत घोषित करने की तैयारी में पाकिस्तान
  • सिद्धू को मिल सकता है कांग्रेस से झटका, अमरिंदर नहीं चाहते कोई डिप्टी CM
  • लोकसभा में भाजपा सांसदों ने किया पीएम मोदी का स्वागत, लगे 'जयश्री राम' के नारे
  • पंजाब और गोवा विधानसभा चुनावों में मिली हार के बाद आम आदमी पार्टी में फूट के आसार!

होम |

राज्य

सिमी सरगना नागौरी सहित 11 को उम्रकैद...

By Raj Express | Publish Date: 2/28/2017 8:32:30 AM
सिमी सरगना नागौरी सहित 11 को उम्रकैद...

इंदौर। करीब नौ साल पुराने (2008) मामले में इंदौर की स्पेशल कोर्ट ने स्टूडेंट इस्लामी मूवमेंट ऑफ इंडिया (सिमी)सरगना सफदर नागौरी समेत 11 आतंकियों को आजीवन कारावास की सजा सुनाई है। जिला न्यायालय के विशेष न्यायाधीश बीके पालोदा की अदालत ने जिन आतंकियों को सोमवार को सजा सुनाई गई है, इनमें 10 आतंकी गुजरात की साबरमती जेल में बंद हैं, जबकि एक आतंकी को इंदौर कोर्ट में पेश किया गया। स्पेशल कोर्ट ने साबरमती जेल में बंद दोषियों को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए फैसला सुनाया और ऑर्डर की कॉपी ई-मेल से भेजी। इस दौरान जमानत पर रिहा मुनरोज भी उपस्थित था। मुनरोज मामले में लंबे समय से जमानत पर बाहर चल रहा था। वह फैसले के वक्त इंदौर की अदालत के सामने पेश हुआ। मामले में दोषी करार दिए जाने के बाद उसे अदालत से शहर की केंद्रीय जेल भेज दिया गया। अदालत परिसर में भारी सुरक्षा व्यवस्था की गई थी। जिला लोक अभियोजक विमल कुमार मिश्रा ने बताया कि इससे पूर्व सिमी आतंकी समेत 11 आरोपियों का बयान जिला अदालत में 23 फरवरी को पूरे हो गए थे। उस दिन सुबह 11 बजे से शाम करीब पांच बजे तक लगातार सुनवाई हुई थी। बंद कमरे में अदालत ने सभी आरोपयों से अलग-अलग करीब तीन सौ से अधिक सवाल पूछे थे। अदालत ने अपने 84 पृष्ठ के फैसले में कहा कि मुजरिमों की गतिविधियों से प्रकट होता है कि विधि द्वारा स्थापित संवैधानिक भारत सरकार में उनका कोई विश्वास नहीं है। उनके कृत्य राष्ट्रीय एकता और अखंडता के विरुद्ध हैं। वे धार्मिक विद्वेष के आधार पर सम्पूर्ण मानवता के लिए गंभीर खतरा उत्पन्न करने के लिए किए गए अवैध क्रियाकलापों में शामिल हैं। उन्हें किसी तरह की रियायत नहीं दी जा सकती। अभियोजन पक्ष ने सिमी कार्यकर्ताओं पर जुर्म साबित करने के लिए 27 गवाहों को अदालत में पेश किया।   

इन धाराओं में हुई सजा

विशेष अपर सत्र न्यायाधीश बीके पालोदा ने सभी 11 सिमी कार्यकर्ताओं को भारतीय दंड संहिता की धारा 124 ए(देशद्रोह),153 ए(धर्म के आधार पर विभिन्न समूहों के बीच शत्रुता फैलाना और सौहार्द्र पर प्रतिकूल प्रभाव डालने वाले काम करना),विधिविरुद्ध क्रियाकलाप अधिनियम और अन्य सम्बद्ध कानूनों के तहत दोषी करार दिया। मुजरिमों में सफदर हुसैन नागौरी(45),हाफिज हुसैन(35)आमिल परवाज(40),शिवली(38),कमरुद्दीन(42),शाहदुली(32),कामरान(40),अंसार(35),अहमद बैग(32)यासीन(35) और मुनरोज(40)शामिल हैं।
यह है मामला
मार्च,2008 में इंदौर से धार और इंदौर पुलिस ने संयुक्त रूप से इंदौर थाना क्षेत्र के सैफी नगर के श्याम नगर स्थित गफ्फार खां बेकरीवाले के यहां छापा मारकर सिमी के इन 11 आतंकियों को गिरफ्तार किया गया था। आरोपियों से पूछताछ के बाद इंदौर के पास अरोदा गांव के शहजाद फार्म हाउस से सफदर नागौरी, कमरुद्दीन व आमिल परवेज की निशानदेही पर छिपाकर रखे गए 120 विस्फोटक रॉड और सौ डेटोनेटर बरामद किए गए थे। साथ ही पुलिस ने मौके से 240 भड़काऊ पंपलेट्स भी जब्त किए थे। इन पंपलेट्स में जेहाद और देशद्रोह से जुड़ी हुई बातें लिखी थीं। गिरफ्त में आए इन आतंकियों के पास से पुलिस को आतंकियों को ट्रेनिंग के वीडियोज की सीडी का भी जखीरा मिला था। सिमी का कर्ताधर्ता नागौरी सिर्फ भारत में ही एक्टिव नहीं था। वह अल कायदा और जमायते इस्लामी के भी संपर्क में था। उज्जैन के पास महिदपुर का रहने वाला नागौरी मास कम्यूनिकेशन का छात्र था। उसने उज्जैन के विक्रम विवि के जर्नलिज्म डिपार्टमेंट से कश्मीर प्रॉब्लम पर बर्फ की आग टाइटल से थीसिस लिखी थी। नागौरी को शाहिद बद्र फलाही की जगह सिमी का मुखिया बनाया गया था। इसके बाद सिमी का नाम मुंबई-अजमेर बम विस्फोटों में सामने आया था। नागौरी का गुट कर्नाटक और आंध्रप्रदेश के परमाणु ठिकानों को उड़ाने की साजिश रच रहा था। उसके साथ पकड़ा गया कर्नाटक का सिबली और हाफिज दोनों बीटेक हैं। बीते शुक्रवार को प्रॉसिक्यूटर विमल मिश्रा ने नागौरी सहित सभी आरोपियों से 334 सवाल किए थे, जिसके बाद कोर्ट ने 27 फरवरी को फैसला सुनाने की बात कही थी। आतंकियों ने चोरल के पास एक फार्म हाउस में एक ट्रेनिंग कैम्प भी लगाया था। 
Contact us: contact@rajexpress.com
Copyright © 2016 RajExpress.com. All Rights Reserved.
Designed by : 4C Plus