• 14 साल की लड़की को बंधक बना 1000 लोगों से बनवाया शारीरिक संबंध
  • प्रशांत भूषण को पीटने वाले को बीजेपी ने बनाया प्रवक्ता
  • राजस्थान: लैंडिंग से पहले बाड़मेर में क्रैश हुआ सुखोई, दोनों पायलट सुरक्षित
  • 'लालू परिवार' हुआ रघुवंश से नाराज, राबड़ी ने बयान को बोला फूहड़
  • गिलगित-बाल्टिस्तान क्षेत्र को पांचवां प्रांत घोषित करने की तैयारी में पाकिस्तान
  • सिद्धू को मिल सकता है कांग्रेस से झटका, अमरिंदर नहीं चाहते कोई डिप्टी CM
  • लोकसभा में भाजपा सांसदों ने किया पीएम मोदी का स्वागत, लगे 'जयश्री राम' के नारे
  • पंजाब और गोवा विधानसभा चुनावों में मिली हार के बाद आम आदमी पार्टी में फूट के आसार!

होम |

राज्य

प्रदेश में जल्द भरे जाएंगे पटवारियों के 9196 नए पद

By Raj Express | Publish Date: 3/10/2017 4:18:08 PM
प्रदेश में जल्द भरे जाएंगे पटवारियों के 9196 नए पद
भोपाल। राजस्व मंत्री उमाशंकर गुप्ता ने प्रदेश में तहसीलदार, नायब तहसीलदार और पटवारियों के पदों की कमी को स्वीकार करते हुए कहा है कि शीघ्र ही प्रदेश में पटवारियों के 9196 पद भरे जाएंगे। वहीं नायब तहसीलदारों कॉडर रिवीजन किया जाएगा, जिससे 911 अतिरिक्त पद मिलेंगे। इसी तरह अब नायब तहसीलदार से तहसीलदार के पद पर 5 वर्ष के बजाय 3 वर्ष की सेवा की अर्हता मानकर पदोन्नति दी जाएगी। उन्होंने कहा कि वैसे तो तहसीलदारों के पद पदोन्नति वाले हैं, लेकिन जरूरत पड़ने पर तहसीलदार के पदों पर सीधी भर्ती भी की जाएगी। 
यह बात उन्होंने गुरुवार को सदन में राजस्व, विज्ञान और प्रौद्योगिकी विभाग की अनुदान मांगों पर हुई चर्चा का जवाब देते हुए कही। उन्होंने बताया कि प्रदेश में 7398 नए पद मंजूर किए गए हैं। भूमि स्वामियों की भूमि पर बटाई या ठेके पर कृषि करने वालों के हितों की रक्षा के लिए मप्र भू स्वामी एवं बटाईदार के हितों का संरक्षण विधेयक 2016 पारित किया गया है। देश में पहली बार इस तरह का विधेयक बना है, जिसे केंद्र से शीघ्र ही मंजूरी मिलने की संभावना है। आरसीएमएस परियोजना के तहत राजस्व से जुड़े सभी तरह के प्रकरणों के लिए आवेदन घर बैठे कर सकेंगे। आवेदक को रजिस्ट्रेशन नंबर तत्काल मिल जाएगा, जिससे वे घर बैठे प्रकरण की ताजा स्थिति जान सकेंगे। यह व्यवस्था सभी जिलों में लागू कर दी गई है। उन्होंने बताया कि प्रकरणों के निराकरण के लिए अफसरों के बैठने के दिन भी तय कर दिए गए हैं। कलेक्टर प्रत्येक सोमवार को अपरान्ह में, अपर कलेक्टर, एसडीओ, तहसीलदार और नायब तहसीलदार सप्ताह में कम से कम तीन दिन राजस्व न्यायालय में बैठेंगे। राजस्व निरीक्षक और पटवारी सप्ताह में एक दिन तहसील मुख्यालय और एक दिन मुख्यालय के हाट- बाजार में उपलब्ध रहेंगे। मंत्री के जवाब के बाद विभाग से संबंधित 4055 करोड़ 18 लाख 63 हजार रुपए की अनुदान मांगों को पारित कर दिया गया। 
Contact us: contact@rajexpress.com
Copyright © 2016 RajExpress.com. All Rights Reserved.
Designed by : 4C Plus