गंगा सफाई के लिए उद्योगों को जोड़ने की तैयारी*नौसेना की समुद्री ताकत का झरोखा दिखेगा राजपथ पर..*कांग्रेस के लिये प्रचार करेंगे करीब प्रवासी भारतीय*नाईक ने कहा गरीब भी अच्छे इलाज के हकदार*मेडिकल छात्रा के साथ छेड़छाड़ मामले पर विपक्ष.....*दूसरा दृष्टिबाधित ट्वंटी-20 विश्वकप30जनवरी से शुरू*सीर और अरशद के साथ काम करेंगी सनी लियोनी*आरबीआई गवर्नर उर्जित पटेल लोक लेखा समिति के...*मनोज वाजपेयी ओमपुरी का किरदार निभाना चाहते हैं*बंगाल बड़े निवेश के लिए पूरी तरह तैयार: प्रणव...*
प्रणव ने किया बंगाल ग्लोबल बिजनेस समिट का उद्घाटन
सोशल मीडिया के सुल्तान बने मोदी
प्रियंका ने दूसरी बार जीता''पीपुल्स चॉइस अवार्ड''
महिला क्रिकेट की पूर्व कप्तान हेहो फिंलट का निधन
मुख्यपृष्ठ राष्ट्रीय विश्व शहर  व्यापार खेल मनोरंजन शिक्षा सम्पादकीय क्लासिफाइड Appointment पत्रिकाएँ आज का पंचांग
हॉस्टल रहने लायक नहीं, फिर भी दो साल से छात्रों...
On 1/10/2017 4:38:02 PM

Change font size:A | A

Print

E-mail

Comments

Rating

Bookmark

भोपाल। मौलाना आजाद राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान के हॉस्टल नबंर 3 और 4 दो साल पहले ही विद्यार्थियों के रहने लायक नहीं बताया गया था। उस समय हॉस्टल को खाली भी कराया गया था,लेकिन फिर विद्यार्थियों को हॉस्टल रूम आवंटित कर दिए गए। तब से विद्यार्थी इन हॉस्टल में रह रहे है। हालांकि यहां की खराब हालत को लेकर विद्यार्थी कई बार संस्थान प्रशासन को अवगत करवाते रहे। वहीं धरना प्रदर्शन भी किया लेकिन अब तक विद्यार्थियों को शिफ्ट नहीं किया गया है। सोमवार को हॉस्टल नबंर 10 के विद्यार्थियों ने परेशान होकर प्रशासनिक भवन के सामने प्रदर्शन किया है। मैनिट के वर्षों पहले बनाए हॉस्टल की उम्र पूरी हो गई हैं। यह बात स्वयं संस्थान प्रबंधन ने अब दो साल पहले एक पत्र जारी कर बताया था। पत्र जारी होने के बाद हॉस्टल नबंर 3-4 खाली कराया था। कुछ दिन हॉस्टल खाली रहे फिर नए सत्र में विद्यार्थियों को रूम दे दिए गए। बीते दो साल से विद्यार्थी इन जर्जर हॉस्टल में रहने को मजबूर है। प्रबंधन ने इस वर्ष पुराने हॉस्टल से विद्यार्थियों को नए हॉस्टल में शिफ्ट करने की बात कही थी लेकिन अब भी इन हॉस्टल में रह रहे है। हॉस्टल के एक कमरे में एक ही विद्यार्थी को रखने का नियम है लेकिन संस्थान ने एक कमरे में 3 से 4 विद्यार्थियों को रखा है। इसका असर उनकी पढ़ाई पर होता है। कई बार शिकायत के बाद भी संस्थान विद्यार्थियों की समास्यओं का निराकरण करने को तैयार नहीं है।

Post Comments
More News
छतों पर लगाएं सोलर प्लांट बि...
बदली हवाओं की दिशा,गिरा पारा...
केबल स्टे ब्रिज के ट्रैफिक म...
सीने में चाकू घोंपकर ऑटो चाल...
गवाहों पर फायरिंग करने वाला ...
धूप सेंकते हुए दिखे चीतल और ...
मुलताई में फर्जी इंजीनियर पक...
राजनीति और जातियों का भी पड़...
कापरेरेट का रूप लेगा राज्य ओ...
स्टेडियम में आग, पोल बॉल्ट क...
काबलियत के लिए कमिटमेंट की आ...
अत्याचार बढ़ने पर जन्म लेते ...
खोई दक्षताएं हासिल करेंगे तभ...
55 फीसदी वाले परीक्षा से वंच...
आरजीपीवी: एक्जामिनेशन प्रोसे...
प्राचार्यो की होगी ऑनलाइन नि...
सीबीसीएस के परीक्षण के लिए ब...
जीआरपी में सुरक्षा का दायरा ...
गाड़ी का नंबर दादा........
राज्य शिक्षा केंद्र में धरने...
सेवा सदन में नेत्र रोगियों क...
सिंचाई परियोजनाओं के बारे मे...
मॉडल रैक का ट्रायल आज, पीएम ...
कैसे कर रहे हो एक्स-रे, जब त...
अव्यवस्थाओं का शिकार बना प्र...
शौचालय में जोरदार धमाका........
राजधानी में बढ़ी ठिठुरन तीन...
सूरज नगर: बिना भवन के पढ़ र...
1100 नए गांव और जुड़ेंगे भोप...
समाज में बढ़ती आत्महत्याओं क...
प्रदेश का पहला डिजि-धन मेला ...
दिव्यांग मेले में निशक्तों न...
सरकारी अस्पतालों में नहीं है...
बेटी के साथ ऑटो चालक को बंद ...
पुलिसकर्मी बताकर व्यापारी से...
मां के आंचल में स्वर्ग का सु...
होशंगाबाद जिले के आँवली घाट ...
सीहोर में भाजपा नेता और डॉक्...
भोपाल में अवैध हथियारों के स...
पीएंडजी कंपनी मामले में केंद...
शौचालय हादसे से अंजान निगम अ...
तीन चोरों को दो साल की कठोर ...
वाहन चालक हेलमेट पहनें इसलिए...
किन्नरों के लिए बनाया जाए आय...
सैकड़ों रेल कर्मियों ने खरीद...
नानीबाई के आने पर ही सरांकिय...
सौ करोड़ की थ्रिफ्ट न हो जाए...
परमार्थ से मिलता है आनंद : श...
पार्किग की व्यवस्था ही नहीं,...
मुख्यमंत्री कल करेंगे एफसीआई...
सर्द हवाओं ने ठिठुराया, सामा...
120 की स्पीड से दौड़ाए मॉडल ...
कैशलेस से 95 फीसदी लेन-देन :...
पत्नियों की सलाह पर रेलवे कर...
कब तक ठगे जाएंगे छात्र, जब भ...
श्रीमती साड़ी मॉल ने कंपनी क...
खाद्य एवं औषधि प्रशासन की प्...
जिला बार एसोसिएशन के चुनाव: ...
आठ साल पहले निर्मित स्कूल भव...
मेरे दिल में बसी हैं भोपाल क...
कहां विराजेंगी झलकारी बाई, श...
 सम्पर्क करें  विज्ञापन दरें आपके सुझाव संस्थान
© Copyright of Rajexpess 2009,all right reserved.
Developed & Designed By: