प्रणव ने झालदा सत्यभामा विद्यापीठ के शताब्दी समा..*देवरिया में महिला का शव बरामद होने से हडकंप*उम्मीदवारी के लिए नारायण साई ने मांगी जमानत*मार्च तक राशन दुकानों में कैशलेस सुविधा*टाइगर जिंदा रहेंगे, तो हम जिंदा रहेंगे : राजे.....*पांच राज्यों में 80 करोड़ रुपये से अधिक जब्त*झारखंड गठन के लिये 200 करोड़ रपये की मंजूरी*आग लगने से एक मंजिल गिरी ,38 झुलसे*भाजपा, आप के कई नेता कांग्रेस में शामिल....*भारत ने बनाया नया विश्व रिकार्ड...*
प्रियंका ने दूसरी बार जीता''पीपुल्स चॉइस अवार्ड''
महिला क्रिकेट की पूर्व कप्तान हेहो फिंलट का निधन
‘हॉल ऑफ फेम’ क्लब में शामिल हुए कपिल देव
शीना बोरा मर्डर इंद्राणी, पीटर मुखर्जी पर हत्या के आरोप तय
मुख्यपृष्ठ राष्ट्रीय विश्व शहर  व्यापार खेल मनोरंजन शिक्षा सम्पादकीय क्लासिफाइड Appointment पत्रिकाएँ आज का पंचांग
रुके रिजल्ट बने यूनिवर्सिटी की भूल
On 1/11/2017 12:52:37 PM

Change font size:A | A

Print

E-mail

Comments

Rating

Bookmark

जबलपुर। महाकौशल अंचल के आठ जिलों के महाविद्यालयों में परीक्षा और परिणामों का जिम्मा संभालने वाली रानी दुर्गावती यूनिवर्सिटी में अगर किसी विद्यार्थी का रिजल्ट रूक जाता है तो इसका जिम्मा किसी का नहीं है। भले ही यह बात सुनने में अटपटी लगती हो परंतु यदि विद्यार्थी शिकायत न करे तो महीनों से लेकर वर्षो तक रुके रिजल्ट निकालने की सुध किसी भी अधिकारी, कर्मचारी को नहीं होती। आरडीयू में आए दिन ऐसे मामले सामने आते रहते हैं जिसमें विद्यार्थी अपने रूके रिजल्ट क्लियर कराने से लेकर मार्कशीट बनवाने के लिए परेशान होते रहते हैं। किसी भी कॉलेज के विद्यार्थियों के यूनिवर्सिटी में परीक्षा परिणाम रूकने के पीछे कुछ कारण होते हैं जिन्हें रिजल्ट घोषित होने के दौरान कुछ कोड देकर दर्शाया जाता है। बाद में इन कारणों के दूर होने के बाद भी यूनिवर्सिटी रूके हुए रिजल्ट को घोषित करना ही भूल जाती है। इन कारणों से रुकता है रिजल्ट: आरडीयू में रिजल्ट विथ हेल्ड होने को लेकर यूनिवर्सिटी द्वारा एक से लेकर 31 नम्बर तक कोड निर्धारित किए गए हैं। कोड के आधार पर यह जाना जाता है कि रिजल्ट किन वजहांे से रूका हुआ है। इनमें नामांकन न होना, कुछ शुल्क चुकता न होना, माईग्रेशन, रेसिडेंस से लेकर क्वालिफाई एग्जाम के प्रमाणपत्र न होने से लेकर पिछले सेमेस्टर का पास रिजल्ट न होना या मार्कशीट न होना या फिर कॉलेज द्वारा प्रायोगिक परीक्षा या सीसीई के अंक जमा न करने जैसी वजहें शामिल होती हैं। यूनिवर्सिटी के परीक्षा एवं गोपनीय विभाग के अधिकारियों के अनुसार रिजल्ट विथ हेल्ड होने पर विद्यार्थी को स्वयं इसके लिए प्रयास करना बेहतर सुझाव है।
 

Post Comments
More News
सूपाताल में सन् 1967 से अनवर...
शिकायतकर्ता से सीधे बात करने...
नहीं करो रेलवे में नई भर्ती,...
कांच उद्योग की असीमित संभावन...
नए वर्जन में कैसे फाइल करें ...
आगे बढ़ने गुरुओं का मार्गदर्...
अपने ही आशियानों पर नगर निगम...
महिला नर्सो को 65 साल में रि...
चार बांध बनने से जलमग्न होंग...
प्रदेश के एटीएस में घट रही ज...
प्रगतिशील समाज में स्वीकार न...
अरब सागर से आ रही नमी ने बढ़...
ट्रक चालक ने मचाया कोहराम...
पुलिस ने चलाया ऑपरेशन शिकंजा...
अब यूको बैंक में सेंधमारी...
कलेक्ट्रेट में प्रशासनिक सर्...
वर्ग दो में समायोजन करने की ...
उपेक्षा का शिकार तालाब...
महिला ने बच्चों के साथ आग लग...
दो शातिर लुटेरे पुलिस की गिर...
बेटे की हत्या कर भाई और बाप ...
प्रतिभा पर्व पर 30 करोड़ हों...
चाट खाने को लेकर विवाद पर कि...
नंबर वन बन रहे शहर में अपना...
बिजली बिल नए साल का, सील बीत...
मां तुम उठ क्यों नहीं रही हो...
लाखों की धोखाधड़ी, पुलिस नही...
चने की अच्छी कीमत मिलने के आ...
छेड़खानी की रिपोर्ट करने पर ...
पसीने की क माई हड़प रहे सूदख...
दस लाख कामगारों को पीएफ लाभ ...
मृत सहायक कुलसचिव के नाम से ...
थके-हारे कर्मियों के जिम्मे ...
डाक से आते हैं फर्जी स्थानां...
मृत्यु प्रमाण पत्र बनाने मां...
रशियन बम निर्माण में आ रहीं ...
दत्तक बेटी ने दी बुजुर्ग महि...
प्रपत्र- 5 में 15 प्रश्न ही ...
ठंड ने दी राहत.......
मंत्री ने किया आनंदम स्थल का...
नगर के कुप्पु स्वामी ने की ‘...
बे-लगाम ट्रक ने स्कूल से लौट...
लाठीचार्ज कांड के विरोध में ...
गुस्साए लोगों ने किया थाने क...
आए थे शादी में, करने लगे छेड...
शहर से लेकर ग्रामीण क्षेत्र ...
पिग हाउस हटाए संरक्षक निलंबि...
रांझी में उतारी जा रही थी शर...
मौसम ने किसानों को किया बर्ब...
हबीबगंज से बीना के बीच मॉडल ...
विधायक ने किया गैस कनेक्शन क...
 सम्पर्क करें  विज्ञापन दरें आपके सुझाव संस्थान
© Copyright of Rajexpess 2009,all right reserved.
Developed & Designed By: