उम्मीदवारी के लिए नारायण साई ने मांगी जमानत*मार्च तक राशन दुकानों में कैशलेस सुविधा*टाइगर जिंदा रहेंगे, तो हम जिंदा रहेंगे : राजे.....*पांच राज्यों में 80 करोड़ रुपये से अधिक जब्त*झारखंड गठन के लिये 200 करोड़ रपये की मंजूरी*आग लगने से एक मंजिल गिरी ,38 झुलसे*भाजपा, आप के कई नेता कांग्रेस में शामिल....*भारत ने बनाया नया विश्व रिकार्ड...*क्रूरतापूर्वक मवेशियों को ले जा रहे 2युवक गिरफ्तार*अब 30 हजार रुपए के कैश ट्रांजैक्‍शन पर पैन कार्ड*
प्रियंका ने दूसरी बार जीता''पीपुल्स चॉइस अवार्ड''
महिला क्रिकेट की पूर्व कप्तान हेहो फिंलट का निधन
‘हॉल ऑफ फेम’ क्लब में शामिल हुए कपिल देव
शीना बोरा मर्डर इंद्राणी, पीटर मुखर्जी पर हत्या के आरोप तय
मुख्यपृष्ठ राष्ट्रीय विश्व शहर  व्यापार खेल मनोरंजन शिक्षा सम्पादकीय क्लासिफाइड Appointment पत्रिकाएँ आज का पंचांग
सफाई के मिले फर्जी बिल, बुकिंग काउंटर्स में मिली..
On 1/12/2017 11:36:50 AM

Change font size:A | A

Print

E-mail

Comments

Rating

Bookmark

जबलपुर। पश्चिम मध्य रेलवे के जबलपुर रेल मंडल के रीवा स्टेशन पर बुधवार सुबह विजिलेंस टीम ने छापा मारा, जहां पर सब कुछ गड़बड़ मिला। बुकिंग काउंटर्स पर हर लिपिकों के पास जहां निर्धारित राशि से अधिक रुपए मिले तो वहीं स्टेशन अधीक्षक के पास से फर्जी बिलों का जखीरा मिला, जो सफाई के नाम पर खेल किया जाता रहा। साथ ही यहां के स्टेशन पर घटिया खान-पान सामग्री धड़ल्ले से बेची जा रही थी, वहीं रीवा तक ट्रेन ड्यूटी पर आने की जगह टीटीई सतना स्टेशन पर ही उतर जाते थे। विजिलेंस टीम ने एक साथ कई मामलों की जांच शुरू कर दी है और संबंधित विभाग के अफसरों को इसकी जानकारी भी दी है। जबलपुर से विजिलेंस की टीम बुधवार सुबह रीवा पहुंची। इस टीम में निरीक्षक वासुदेव सरकार, दीप अग्रवाल, कमलेश मार्कस व अरुण श्रीवास्तव शामिल थे। टीम ने सबसे पहले बुकिंग काउंटर्स की जांच शुरू की और लिपिकों के पास की राशि और बेची गई टिकटों से मिलान किया तो किसी के पास दौ सौ तो किसी के पास चार सौ रुपए राशि अधिक मिली। माना गया कि यह अतिरिक्त राशि यात्रियों से वसूली गई है। स्टेशन अधीक्षक ने सफाई के नाम पर किया जमकर काला-पीला : विजिलेंस टीम ने स्टेशन अधीक्षक के पास स्टेशन में सफाई व अन्य मदों में खर्चो का बिल जांचा तो पाया कि एक बाथरूम की सफाई पर बड़ी मोटी राशि खर्च की जा रही है। एक बाथरूम में 20 हजार रुपए की फिनाइल, 20 हजार की झाड़ू, 20 हजार रुपए के एसिड का खर्चा नियमित रूप से दर्शाया जाता और यह राशि फर्जी बिल लगाकर निकाल ली जाती। वहीं स्टेशन में काम करने वाले सफाई कर्मियों से बाहर कालोनियों की सफाई भी कराई जाती और कालोनियों की सफाई का खर्चा भी स्वयं रख लिया जाता था।

Post Comments
More News
सूपाताल में सन् 1967 से अनवर...
शिकायतकर्ता से सीधे बात करने...
नहीं करो रेलवे में नई भर्ती,...
कांच उद्योग की असीमित संभावन...
नए वर्जन में कैसे फाइल करें ...
आगे बढ़ने गुरुओं का मार्गदर्...
अपने ही आशियानों पर नगर निगम...
महिला नर्सो को 65 साल में रि...
चार बांध बनने से जलमग्न होंग...
प्रदेश के एटीएस में घट रही ज...
प्रगतिशील समाज में स्वीकार न...
अरब सागर से आ रही नमी ने बढ़...
ट्रक चालक ने मचाया कोहराम...
पुलिस ने चलाया ऑपरेशन शिकंजा...
अब यूको बैंक में सेंधमारी...
कलेक्ट्रेट में प्रशासनिक सर्...
वर्ग दो में समायोजन करने की ...
उपेक्षा का शिकार तालाब...
महिला ने बच्चों के साथ आग लग...
दो शातिर लुटेरे पुलिस की गिर...
बेटे की हत्या कर भाई और बाप ...
प्रतिभा पर्व पर 30 करोड़ हों...
चाट खाने को लेकर विवाद पर कि...
नंबर वन बन रहे शहर में अपना...
बिजली बिल नए साल का, सील बीत...
मां तुम उठ क्यों नहीं रही हो...
लाखों की धोखाधड़ी, पुलिस नही...
चने की अच्छी कीमत मिलने के आ...
छेड़खानी की रिपोर्ट करने पर ...
पसीने की क माई हड़प रहे सूदख...
दस लाख कामगारों को पीएफ लाभ ...
मृत सहायक कुलसचिव के नाम से ...
थके-हारे कर्मियों के जिम्मे ...
डाक से आते हैं फर्जी स्थानां...
मृत्यु प्रमाण पत्र बनाने मां...
रशियन बम निर्माण में आ रहीं ...
दत्तक बेटी ने दी बुजुर्ग महि...
प्रपत्र- 5 में 15 प्रश्न ही ...
ठंड ने दी राहत.......
मंत्री ने किया आनंदम स्थल का...
नगर के कुप्पु स्वामी ने की ‘...
बे-लगाम ट्रक ने स्कूल से लौट...
लाठीचार्ज कांड के विरोध में ...
गुस्साए लोगों ने किया थाने क...
आए थे शादी में, करने लगे छेड...
शहर से लेकर ग्रामीण क्षेत्र ...
पिग हाउस हटाए संरक्षक निलंबि...
रांझी में उतारी जा रही थी शर...
मौसम ने किसानों को किया बर्ब...
हबीबगंज से बीना के बीच मॉडल ...
विधायक ने किया गैस कनेक्शन क...
 सम्पर्क करें  विज्ञापन दरें आपके सुझाव संस्थान
© Copyright of Rajexpess 2009,all right reserved.
Developed & Designed By: