• 14 साल की लड़की को बंधक बना 1000 लोगों से बनवाया शारीरिक संबंध
  • प्रशांत भूषण को पीटने वाले को बीजेपी ने बनाया प्रवक्ता
  • राजस्थान: लैंडिंग से पहले बाड़मेर में क्रैश हुआ सुखोई, दोनों पायलट सुरक्षित
  • 'लालू परिवार' हुआ रघुवंश से नाराज, राबड़ी ने बयान को बोला फूहड़
  • गिलगित-बाल्टिस्तान क्षेत्र को पांचवां प्रांत घोषित करने की तैयारी में पाकिस्तान
  • सिद्धू को मिल सकता है कांग्रेस से झटका, अमरिंदर नहीं चाहते कोई डिप्टी CM
  • लोकसभा में भाजपा सांसदों ने किया पीएम मोदी का स्वागत, लगे 'जयश्री राम' के नारे
  • पंजाब और गोवा विधानसभा चुनावों में मिली हार के बाद आम आदमी पार्टी में फूट के आसार!

होम |

भोपाल

200 से ज्यादा मिनी बसें शहर की हवा को रही हैं दूषित

By Raj Express | Publish Date: 3/20/2017 12:51:19 PM
200 से ज्यादा मिनी बसें शहर की हवा को रही हैं दूषित
भोपाल। शहर की हवा में जहर घोल रही मिनी बसों की मनमानी से न केवल पर्यावरण के लिए खतरा पैदा हो रहा है बल्कि इनके अनफिट होने से यात्रियों की जान का खतरा भी बना रहता है। जिला परिवहन कार्यालय ने 300 से अधिक बसों को परमिट दिया हुआ है बावजूद शहर में 500 से अधिक बसें चल रहीं है। जिनमें 200 बसें ज्यादा बसें ऐसी है जो पूरी तरह से अनफिट है। इन बसों में न तो स्पीड गवर्नर लगा हुआ है और न ही इनकी पीयूसी जांच हुई है। इधर ज्यादातर बसें साइलेंसर में खराबी के चलते ज्यादा धुंआ छोड़ रही है। जिससे पर्यावरण को नुकसान पहुंच रहा है। इसके पीछे की मुख्य वजह बसों को पेट्रोल के साथ केरोसीन से चलाना है। इन बसों के खिलाफ न तो आरटीओ की ओर से कोई सख्ती कार्रवाई की जाती है न ही यातायात पुलिस कोई कार्रवाई करती है। जबकि ऐसे वाहनों पर सख्त कार्रवाई करते हुए अनफि ट वाहनों के परमिट व वाहन चलाकों के लाइसेंस भी निरस्त कर देना चाहिए। आरटीओ के मुताबिक शहर में करीब 15.5 लाख वाहन रजिस्टर्ड हैं। लेकिन प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (पीसीबी) ने जब पिछले माह इन वाहनों के प्रदूषण स्तर की जांच की तो यह कहा था कि सब तय63 माइक्रो ग्राम प्रति क्यूबिक मीटर से लेकर अधिकतम 79.8 दर्ज किया गया है। पीसीबी की इस रिपोर्ट के अनुसार शहर के गोविन्दपुरा, हमीदिया रोड़, कोलार थाना क्षेत्र, होशांगाबाद रोड़ यूनिवर्सिटी के समीप, सिविल अस्पताल बैरागढ़, गोविन्दपुरा, पर्यावरण परिसर क्षेत्र में वायु प्रदूषण के स्तर जांचा गया है। शहर में लगातार बढ़े प्रदूषण के पीछे सबसे बड़ी वजह व्हीकल माने जा रहे है। इन बसों के खिलाफ न तो आरटीओ की कोई सख्त कार्रवाई करता है और न ही यातायात पुलिस इनके खिलाफ कोई अभियान चला रही है। नतीजे में अनफिट बसें शहर की हवा को दूषित करती जा रही है। 
Contact us: contact@rajexpress.com
Copyright © 2016 RajExpress.com. All Rights Reserved.
Designed by : 4C Plus